8 गाँव उचाना में 1 गांव कैथल में किया शामिल

 

चण्डीगढ़, 2 जून 

हरियाणा सरकार ने जिला नूहं की तहसील एवं खण्ड फिरोजपुर झिरका के 20 गांवों को तहसील एवं खण्ड पुन्हाना में और जिला जींद की नरवाना तहसील के आठ गांवों को तहसील उचाना में शामिल करने के अतिरिक्त तहसील नरवाना के गांव बरटा को जिला जींद से निकालकर जिला कैथल में शामिल करने का निर्णय लिया है।
एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि इस आशय के प्रस्तावों को मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने स्वीकृति प्रदान कर दी है।
उन्होंने बताया कि जिला नूहं की तहसील फिरोजपुर झिरका के 18 गांव नामत: बडेड, नीमखेड़ा,धोली, खोरी, लुङ्क्षहगा खुर्द, घटवासन, ऐंचवाडी, गोकलपुर, डांडल, जैतलका मल्हाका, झारपुरी, डूंगैचा, तिगांव, ढाणा, बूबलहेडी, चांदडाका एवं मौहम्मदबास ऊर्फ बूचाका और खण्ड फिरोजपुर झिरका के दो गांव नामत: रानोता एवं मानोता को जनहित में  पुन्हाना तहसील एवं खण्ड में शामिल किया गया है।
उन्होंने बताया कि जिला जींद की नरवाना तहसील के जिन आठ गांवों को तहसील उचाना में शामिल करने का निर्णय लिया गया है उनमें गांव  बडनपुर, डुमरखा कलां, डुमरखा खुर्द, घसों खुर्द, लोधर, सुदकैन कलां, सुदकैन खुर्द और सुन्दरपुरा शामिल है। इन गांवों को नरवाना तहसील से उचाना तहसील में शामिल किए जाने से इन गांवों की तहसील एवं उपमंडल एक हो जाएंगे।
इसके अतिरिक्त,गांव बरटा को जिला जींद से निकालकर जिला कैथल में शामिल करने का निर्णय इस लिए लिया गया है क्योंकि गांव बरटा अपनी तहसील एवं उपमण्डल नरवाना  से लगभग 35 किलोमीटर और जिला जीन्द मुख्यालय से लगभग 75 किलोमीटर दूर है। इसके कारण गांवासियों को तहसील उपमण्डल और जिला स्तर के कार्य करवाने में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है जबकि यह गांव जिला कैथल मुख्यालय से केवल 18 किलोमीटर दूर है। गांव के किसानों की आढ़त और सभी प्रकार के लेन-देन भी कैथल में है। इसके अलावा वे शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवाएं भी कैथल से ही प्राप्त करते है।

(Visited 118 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!