हरियाणा महिला आयोग की अध्यक्ष पहुंची एमडीयू युमना छात्रावास आत्म हत्या करने वाली छात्रा के कमरे का किया निरक्षण

 हरियाणा महिला आयोग  की अध्यक्ष पहुंची एमडीयू युमना छात्रावास आत्म हत्या करने वाली छात्रा के कमरे का किया निरक्षण ,मृतक छात्रा की दोस्तो से की बातचीत कहा शिक्षा के क्षेत्र में पिछडऩा छात्र आत्महत्या का मुख्य कारण स्कूलों और कालेजों में मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता जरूरी
हॉस्टल में छात्राओं की काउंस्लिंग समय समय पर करवाना बहुत जरूरी
महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के यमुना हॉस्टल में बीफार्मा सैकेंड ईयर की छात्रा गगनप्रीत कौर ने बुधवार को आत्महत्या कर ली थी उसी  मामले की जांच करने यमुना हॉस्टल पहुंची हरियाणा राज्य महिला आयोग कि अध्यक्ष प्रतिभा सुमन  ने  अपनी जांच में हॉस्टल के उस कमरे का निरीक्षण किया जिसमें छात्रा गगनप्रीत कौर ने आत्महत्या की थी।इस दौरान पआतिभा सुमन ने मृतक छात्रा की सहेलीयों से भी बातचीत की।
  महिला आयोग की अध्यक्षा प्रतिभा सुमन ने छात्रावास का दौरा करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुऐ कहा कि लोकप्रिय धारणा यह है कि परीक्षा में असफलता या शिक्षा के क्षेत्र में पिछडऩा छात्र आत्महत्या का मुख्य कारण है। इन मौतों का कारण माता-पिता के साथ खराब संबंध, अत्यधिक अपेक्षाएं, अवांछित भावना, अपने साथियो की गलत समझ होती है। 
वीओः-2 प्रतिभा सुमन ने कहा कि छात्राओं की आत्म हत्याओं को रोकने के लिए स्कूलों और कालेजों में मानसिक स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता पैदा करना। मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण को स्कूल के पाठ्यक्रम में जोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत में विश्वविद्यालयों में अभी भी परामर्श केंद्रों की कमी है, जहां प्रशिक्षित परामर्शदाता और मनोविज्ञानी छात्रों की भावनात्मक शुरुआत में मदद कर सकते हैं।साथ ही उन्होंने हॉस्टल प्रशासन के अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि हॉस्टल में छात्राओं की काउंस्लिंग करवाना बहुत जरूरी है। और  कॉलेज व छात्रावास के हॉस्टलों व  कॉरिडोर में सीसीटीवी कैमरे लगवाना विश्वविधालय प्रसासन की जिम्मेवारी है। उन्होने कहा कि इन सबके सिए सरकार जल्द ही कदम उठाऐगी।  

(Visited 14 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!