हरियाणा एक हरियाणवी एक नारा बुलंद करें : सांगवान

Watch Like & Subscribe the k9media Youtube channel

हरियाणा एक हरियाणवी एक नारा बुलंद करें : सांगवान

भिवानी। आज जाट धर्मशाला भिवानी में पूर्वकमाडेंट हवा सिंह सांगवान ने प्रेस वार्ता में बतलायाकि हरियाणवी समाज को अपना स्वाभिमान जागृत करना
होगा। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने2015 में गोहाना में मीडिया के सामने साफतौर परकहा था कि हरियाणवी लोग कंधे तक मजबूत होते हैं औरदिमागी तौर पर कमजोर होते हैं। ये सरासरहरियाणवी लोगों का अपमान था। इसीलिए हमें यह बयानदेना पड़ा कि वे पाकिस्तानी मूल के हैं, हरियाणवी नहीं हैं,

इसीलिए ऐसा कह रहें हैं। हमारी बात को दिनांक 3अप्रैल 2018 को सरकार ने स्वीकार किया कि वेपाकिस्तान से आने वाले हिन्दू पाकिस्तानी मूल के हैं। यदिऐसी अपमानजनक बात किसी भी प्रदेश जैसे कि महाराष्ट्र,तमिलनाडु व बंगाल आदि के लोगों के खिलाफ बोली जाती तोवहां के लोग जबरदस्त विरोध करते। हमारे बयान कीभरपाई करने के लिए सरकार ने ‘हरियाणा एक ,हरियाणवी एक ‘ के नारे पर गुडगांव में एक बड़ाआयोजन किया, लेकिन 2018 के नगर निगम चुनाव मेंफिर से मुख्यमंत्री ने अपने नारे के विरोध में रोहतक,करनाल आदि जगहों में साफ़-साफ़ पंजाबियों को वोटदेने की बात कह कर एक बार फिर से हरियाणवी समाजका अपमान किया।

हम इससे भी आगे बढ़कर अब ये कहना चाहते हैं किराजेश कोचर के शोध के अनुसार ये लोग यमन देश सेआए तथा पंजाब में रहकर थोड़ी बहुत पंजाबी सीखी। कहनेको तो ये पाकिस्तानी मूल के हैं लेकिन इनकी नस्ल पूरेहिन्दुस्तानियों से अलग है। इसीलिए दयानंद मेडिकल कॉलेज,लुधियाना के डॉक्टर शोबती ने अपने शोध में इनलोगों में 7.5 प्रतिशत थैलीसीमिया की बीमारी पाई गई है।इसीलिए हरियाणवी लोगों को इनसे रिश्तों में सावधानी
बरतने की आवश्यकता है। इन लोगों को हरियाणा औरहरियाणवी से कोई लेना-देना नहीं है। इन्हीं लोगों नेजनसंघ के बतौर हरियाणा बनने का पुरजोर विरोधकिया था इसीलिए इनको हरियाणा पर शासन करने कानैतिक तौर पर कोई अधिकार नहीं है। वैसे भी 6 प्रतिशतयमनी लोगों का 94 प्रतिशत हरियाणवी समाज पर शासन करना गैर-प्रजातान्त्रिक है।

इन्हीं की सरकार ने सांसदराजकुमार सैनी और यशपाल मलिक के मजबूत कन्धोंपर बदूक रख कर हरियाणवी समाज की 36 बिरादरी मेंफूट डालने का बहुत बड़ा षड्यंत्र किया और इस सच्चाईको प्रकाश सिंह कमेटी की रिपोर्ट में ढूंढा जा सकता है। इन लोगों ने हरियाणवी समाज और खापों को बदनाम
करने के लिए टीवी सीरियल बनाए ताकि हरियाणवी लोगों को मनोवैज्ञानिक तरीके से कमजोर किया जा सके। इसीलिए स्वाभिमानी हरियाणवी समाज को जागरूक होनाअति आवश्यक है और इनको वोट देना बुजदिली है।
**************************
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({
google_ad_client: “ca-pub-7680299903713036”,
enable_page_level_ads: true
});

Follow us on facebook
twitter
youtube
dailymotion

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!