समिति ने पानीपत फिल्म के प्रसारण पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

गोहाना : अमित सभरवाल
 भरतपुर के संस्थापक महाराजा सूरजमल के विकृत चरित्र चित्रण से नाराज जाट नेताओं ने बुधवार को मांग की कि पानीपत फिल्म पर अविलंब प्रतिबंध लगाया जाए और इसके निर्माता के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। इस मांग को लेकर अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने एसडीएम आशीष वशिष्ठ के माध्यम से उपायुक्त डॉ. अंशज सिंह और एसपी प्रतिभा गोदारा को ज्ञापन भेजा।
  समिति के जिला अध्यक्ष रणबीर कोच ने कहा कि यदि सरकार ने इस फिल्म पर पाबंदी लगाने में देरी की, जाट समाज के लोग सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर हो जाएंगे। कोच ने कहा कि पानीपत फिल्म के निर्माता ने महाराजा सूरजमल से जुड़े तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि पानीपत फिल्म में महाराजा सूरजमल का जो चरित्र जिस रूप से प्रस्तुत किया गया, उससे उनकी छवि और सम्मान को भारी ठेस पहुंची है। जाट समाज अपने महापुरुष के अपमान को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेगा। इस मौके पर सुरेंद्र सिरसाढ़, संजय रुखी, हरज्ञान रुखी, रमेश जौली, सुखा जौली, महिपाल बरोदा, रामफल रुखी, महेश नूरनखेड़ा आदि मौजूद रहे।

(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!