बाल यौन शोषण को रोकने के लिए ही की जा रही है बाल सलाह व कल्याण केन्द्रों की स्थापना- अनिल मलिक

 
सोनीपत, 09 अगस्त। जिला बाल कल्याण अधिकारी सुरेखा हुड्डïा ने बताया कि हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा शुक्रवार को एस एम हिन्दू वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय में जिला के पांचवे तथा राज्य के 70वें बाल सलाह, परामर्श व कल्याण केन्द्र की स्थापना की गई। इस केन्द्र की शुरूआत करने के बाद राज्य परियोजना के नोडल अधिकारी अनिल मलिक ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि 12 जुलाई 2018 से निरंतर स्कूली स्तर पर इन केन्द्रों की स्थापना की जा रही है। इन केन्दों की स्थापना का उद्देश्य बाल सुरक्षा एवं संरक्षण हैं। उन्होंने कहा कि अभिभावकों व आम नागरिक को बाल यौन शोषण की चिन्ता सताती है। इसी को दूर करने के लिए केन्द्र सरकार व राज्य सरकार बाल संरक्षण के मुद्दे पर बहुत गम्भीरता से कार्य कर रही है। हरियाणा सरकार ने विभिन्न संस्थानों के माध्यम से हमारे बच्चे की सुरक्षा के लिए प्रदेश में बाल सलाह, परामर्श व कल्याण केन्द्रों की स्थापना की है जिसके अन्तर्गत बच्चों को आपसी समायोजन, चिन्ता, तनाव, दबाव, हम-समूह के साथ बेहतर रिश्ते इत्यादि विषयों पर मनोवैज्ञानिक परामर्श दिए जाते है। 
केन्द्र की स्थापना के अवसर पर उपस्थित किशोरावस्था के बच्चों व शिक्षकों के लिए मनोवैज्ञानिक परामर्श के माध्यम से बाल सुरक्षा व संरक्षण विषय पर एक सेमिनार का आयोजन भी किया गया। सेमिनार में सम्बोधित करते हुए अनिल मलिक ने बताया कि हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के कार्यक्रमों को अधिक व्यापक इसलिए बनाया है ताकि मनोवैज्ञानिक परामर्श के माध्यम से ही बच्चों में उनकी उम्र विशेष की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए एक ऐसी समझ पैदा की जा सकती है कि वे अपने सम्बन्धित मुद्दों के प्रति जागरुक रहें। 
श्री मलिक ने रोल प्ले के माध्यम से बच्चों को बताया कि सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। सिर्फ अच्छे और बुरे स्पर्श के बारे मे जागरूक करने से ही नतीजे सही नहीं होंगे। इसके लिए व्यवहारिक तौर पर प्रदर्शन या रोल प्ले के माध्यम से समझाने का प्रयास जाना चाहिए और हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद इस स्तर पर बेहतर प्रयास कर रही है। आत्म-जागरूकता के साथ-साथ पर्याप्त आत्मविश्वास और दृढ़ता से खुद पर भरोसा करना बहुत जरूरी है, ताकि बच्चे संकट की घड़ी में भावनाओं पर नियंत्रण रखते हुए खुद को कमजोर या मजबूर ना समझें और अपने बचाव व सुरक्षा हेतु आवश्यक व उचित कार्यवाही करने में सक्षम बनें 
इस अवसर पर स्कूल प्राचार्या किरण गुप्ता, सहायक कार्यक्रम अधिकारी धर्मपाल, राज्य परियोजना संयोजक उदय चन्द, जीन्द से पहुंचे काउंसलर व परिषद के आजीवन सदस्य नीरज कुमार, इन्दु रानी, दीपक मंथन व स्कूल स्टाफ के सभी सदस्य उपस्थित रहे।

(Visited 14 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!