नशे के प्रति सरकार गंभीर नहीं, नशीला पदार्थ चिट्टा हरियाणा में ही बनकर युवाओं की जान ले रहा है- दिग्विजय चौटाला

सिरसा/चंडीगढ़, 13 जून। हरियाणा में चल रही कुछ फार्मास्यूटिकल फैक्ट्रियां कथित तौर पर नशा बनाती है जिन पर हरियाणा सरकार लगाम कसने में नाकाम साबित हो रही है और कई कानून के रखवालों की मिलीभगत से ये नशे का कारोबार फलफूल रहा है। प्रदेश में कानून व्यवस्था का दिवाला निकला पड़ा है और भ्रष्टाचार चरम पर है, अगर एक सप्ताह के बीच इसका कोई हल ना निकला और इन नशे के काले कारोबार करने वालों के खिलाफ कोई ठोस कदम ना उठाया तो मैं स्वयं इस आंदोलन की कमान संभालूंगा। ये बात आज इनेसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जननायक जनता पार्टी के युवा नेता दिग्विजय सिंह चौटाला ने सिरसा जिले के गांव गोरीवाला में बढ़ रहे नशे व लूट की घटनाओं के विरोध में ग्रामीणों के धरने में शामिल होते हुए कही।

वहीं इसके बाद डबवाली की नई अनाज मंडी में स्थित पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं की एक बैठक की और आने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर उन्हें उचित दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान दिग्विजय चौटाला ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में प्रदेश की जनता बदलाव के लिए युवा नेतृत्व की जजपा सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को पीएम मोदी के नाम का सहारा नहीं मिलेगा क्योंकि प्रदेश की जनता यहां पीएम का चेहरा नहीं बल्कि प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा उसे चुनेगी।

दिग्विजय ने कहा कि लोकसभा चुनावों में खुद बीजेपी ने उपर मोदी, नीचे दुष्यंत का नारा देकर हमारा कैडर खराब किया था लेकिन अब प्रदेश की जनता उनकी चालाकियों में नहीं आने वाली वो देखेगी कि कौन सा प्रत्याशी उनके लिए अच्छे रोजगार, शिक्षा, सुरक्षा मुहैया करवाने की क्षमता रखता है। दिग्विजय चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार की तानाशाही नीतियों की वजह गरीब, युवा, किसान, मजदूर और व्यापारी वर्ग समते सभी का शोषण हो रहा है।  

साथ ही दिग्विजय चौटाला ने कहा कि प्रदेश के मुखिया मनोहरलाल को जनता का ख्याल नहीं, तभी उनके राज में प्रदेश में तीन बड़ी घटनाएं हुई और सैंकड़ों लोगों की जान गई। उन्होंने कहा कि भाजपा हर समय जात-पात की आग जला कर उस पर अपनी राजनैतियां रोटियां सेंकने के फिराक में रहती है और इस प्रयास में पिछले चार वर्षों से लगी है।

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि प्रदेश का विकास जात-पात, धर्म-मजहब और सम्प्रदाय की बात करने से नहीं होता, बल्कि विकास, सकारात्मक सोच व सबको साथ लेकर विकास की नई नीतियों को लागू करने से होता है।

(Visited 7 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!