दिल्ली विद्यापीठ में मनाया संविधान दिवस विद्यार्थियों को दिलाई शपथ

सोनीपत (26 नवंबर) :- देवुडु रोड स्थित दिल्ली विद्यापीठ में संविधान दिवस का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण जिला न्यायालय सोनीपत से कानूनी सेवक एवं नेशनल अवॉर्डी दीपक कुमार मंथन रहे । विशिष्ट अतिथि के रूप में भारत बंजन व विनोद कुमार रहे । कार्यक्रम की अध्यक्षता दिल्ली विद्यापीठ के संचालक वीर सिंह सैनी ने की ।  मुख्य वक्ता दीपक कुमार मंथन ने बताया कि भारतीय संविधान देश दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है जो कि 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन में तैयार किया गया । आजादी के बाद देश को चलाने के लिए एक संविधान की आवश्यकता पड़ी जिसमें भारत  देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद, प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु जी ने डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी को भारत का प्रथम कानून मंत्री बनाते हुए संविधान लिखने की प्रार्थना की जिसमें डॉक्टर भीमराव अंबेडकर  ने हिंदुस्तान के उस प्रत्येक वर्ग के लिए जो चाहे वह छुआछूत से चाहे वह अछूत से या निम्न वर्गों से आते हैं उन सभी के भले के लिए कल्याण के लिए संविधान की रचना की जिसमें सबको समानता के अधिकार ,स्वतंत्रता का अधिकार, अपनी बात कहने का अधिकार, विश्वास का अधिकार और घूमने-फिरने और किसी भी धर्म को अपनाने के  अधिकार दिलवाये जो कि सिर्फ हमें संविधान से प्राप्त हुए है । आज अगर समानता के साथ जीने का अधिकार है तो वह सिर्फ डॉक्टर भीमराव अंबेडकर  द्वारा निर्मित भारतीय संविधान से प्राप्त हुआ है हमें अपने भारतीय संविधान पर गर्व होना चाहिए।   स्कूल संचालक वीर सिंह सैनी ने  कहा कि हमारे विद्यालय के कैंपस के अंदर सभी विद्यार्थियों को भी समानता के साथ शिक्षा दी जाती  जिसके तहत हम सभी बच्चों को समानता के साथ शिक्षा और नैतिकता का पाठ पढ़ाते हैं जिसमें सभी बच्चे पढ़कर हमारे विद्यालय का अपने परिवार का और हमारे देश का नाम रोशन कर रहे हैं । हम अपने बच्चों से इस मौके पर यही उम्मीद लगाते हैं कि वह बच्चे भारतीय संविधान की पालना करते हुए नियम एवं कानूनों की पालना करेंगे और भारतीय संविधान जो देश दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है उसे आगे बढ़ाने में अपनी अहम भूमिका अदा करेंगे  । प्रिंसिपल अराधना ग्रोवर ने सभी का आभार व्यक्त किया ।
 इस मौके पर समस्त अध्यापक गण एवं विद्यार्थी मौजूद रहे । मुख्य वक्ता दीपक कुमार मंथन ने इस मौके पर संविधान एवं कानूनों की पालना हेतु शपथ भी दिलवाई ।

(Visited 1 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!