जीव विज्ञान क्षेत्र में नवीनतम प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से तथा चिकित्सीय विज्ञान से कदमताल के साथ जन-स्वास्थ्य में प्रभावी पहल की जा सकती है।

Watch Like & Subscribe the k9media Youtube channel
2 Attachmentsरोहतक, 15 मार्च। जीव विज्ञान क्षेत्र में नवीनतम प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से तथा चिकित्सीय विज्ञान से कदमताल के साथ जन-स्वास्थ्य में प्रभावी पहल की जा सकती है। जरूरत है कि इस संबंध में इंटीग्रेटिड एप्रोच रखा जाए तथा अन्तर-विषयक शोध के जरिए जन-जन तक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए। ये उद्गार प्रतिष्ठित स्वास्थ्य विशेषज्ञ तथा डीन, फैकल्टी ऑफ मेडिकल सुपर स्पेशलिटी, पं बीडी शर्मा स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, रोहतक के प्रो. ध्रुव चौधरी ने आज महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में व्यक्त किए।
फ्रंटियर्स इन लाइफ साइंसेज: ए इंटर-डिसीप्लीनरी परस्प्रेक्टिव विषयक इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्रो. ध्रुव चौधरी ने मुख्य भाषण दिया। प्रो. ध्रुव चौधरी ने प्राध्यापकों तथा शोधार्थियों को स्किल-अपडेशन पर फोकस करने को कहा। प्रो. ध्रुव चौधरी ने कहा कि जन-मानस को स्वास्थ्य बारे जागरूक करने के लिए प्रभावी स्वास्थ्य-संचार की जरूरत है।
विश्वविद्यालय के डीन, एकेडमिक एफेयर्स प्रो. ए.के. राजन ने कहा कि जीवन विज्ञान क्षेत्र में इन्नोवेटिव रिसर्च की जरूरत है। नवोन्मेषी पहल के जरिए वैज्ञानिक शोध का उपयोग मानव कल्याण के लिए किया जा सकता है।
जूलोजी विभाग की अध्यक्षा प्रो. मीनाक्षी शर्मा ने स्वागत भाषण दिया तथा संगोष्ठी बारे बताया। डीन, फैकल्टी ऑफ लाइफ साइंसेज प्रो. पुष्पा दहिया ने जीव विज्ञान संकाय की विकास यात्रा पर प्रकाश डाला। आभार प्रदर्शन डा. विनय मलिक ने किया। कार्यक्रम में मंच संचालन छात्रा दिव्या वशिष्ठ ने किया।
इस संगोष्ठी के तकनीकी सत्र में सेंटर फॉर रूरल डेवलपमेंट एण्ड टैक्नोलोजी, आईआईटी, नई दिल्ली के प्रोफेसर डा. अनुश्रीमलिक ने माइक्रोबियल-फंगल इंटैरेक्शन: हारनैसिंग फॉर ससटेनेबल इनवायरमेंटल टैक्नोलोजीज विषय पर तथा जेएनयू, नई दिल्ली की स्कूल ऑफ लाइफ साइंसेज की प्रोफेसर डा. श्वेता सारण ने एक्साइटिंग एक्सपेरीमेंटस इन डेवलपमेंटल बायोलोजी विषय पर विशेष व्याख्यान दिया।
इस अवसर पर प्रो. विनीता शुक्ला, डा. सुधीर कटारिया, डा. सुदेश रानी, डा. रंजना जयवाल, प्रो. जेपी यादव, प्रो. जेएस लौरा, प्रो. बलजीत यादव, प्रो. विनिता हुड्डा समेत जीव विज्ञान संकाय के प्राध्यापकगण, शोधार्थी, विद्यार्थी, डेलीगेट्स आदि उपस्थित रहे।

7 Attachments
Attachments
Attachments
Attachments
Attachments
Attachments । Attachments
ttachments area



Follow us on facebook
twitter
youtube

(Visited 14 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!