छोड़ना पड़ सकता है जिनके पास हरियाणवी होने की पहचान नहीं है

पंचकूला। असम की तर्ज पर अब हरियाणा में भी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर(एनआरसी) लागू होगा। इसके बाद उन लोगों को हरियाणा छोड़ना पड़ सकता है जिनके पास हरियाणवी होने की पहचान नहीं है। हालांकि अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी।

सीएम मनोहर लाल ने कहा कि असम की तरह हरियाणा में भी राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री अपनी सरकार के पिछले पांच वर्षों के कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों की जानकारी देने के लिए रष्ट्रीय स्तर पर चलाए जा रहे महा जनसंपर्क अभियान के अंतिम दिन पंचकूला में हरियाणा राज्य मानव अधिकार आयोग के पूर्व चेयरमैन न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) एचएस भल्ला के सेक्टर 16 स्थित आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

एक प्रश्न के उत्तर में मनोहर लाल ने कहा कि परिवार पहचान पत्र पर हरियाणा सरकार तेजी से कार्य कर रही है तथा इसके आंकड़ों का उपयोग राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर में भी किया जाएगा। उन्होंने न्यायमूर्ति एचएस भल्ला के प्रयासों की सराहना की कि सेवानिवृति के बाद भी वे NRC डाटा का अध्ययन करने के लिए असम के दौरे पर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सरकार के लिए भी एक तरीके से बेहतर होगा और भल्ला की सेवाएं राज्य में स्थापित किए जाने वाले एनआरसी के लिए उपयोगी होंगी।

(Visited 93 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!