केजरीवाल को फिर से न्यौता देने पहुंचे असंध हलके के ग्रामीण

Watch Like & Subscribe the k9media Youtube channel

केजरीवाल को फिर से न्यौता देने पहुंचे असंध हलके के ग्रामीण

बोले आप आइए, हम देखेंगे कैसे रोकते हैं खट्टर

दिल्ली के सीएम को बाल-पबाना की डिस्पेंसरी देखने से रोकने पर खट्टर से नाराज ग्रामीण

कहा, इस बार खट्टर की नहीं हमारी चलेगी

करनाल । हरियाणा सरकार द्वारा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को करनाल जिला के गांव बाल पबाना में डिस्पैंसरी का निरीक्षण करने से रोकने पर गुस्साए ग्रामीण बुधवार को दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिले और उन्हें फिर से अपने गांव में आने का न्यौता दिया। असंध विधानसभा क्षेत्र के करीब आधा दर्जन गावों के लोगों ने एकजुटता के साथ यहां तक कहा कि इस बार मनोहर लाल खट्टर की नहीं उनकी चलेगी और कोई भी केजरीवाल का रास्ता नहीं रोकेगे। ग्रामीणों के साथ मुलाकात के दौरान केजरीवाल ने उन्हें जल्द ही दोबारा गांव में आने का भरोसा दिया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बीती 17 नवंबर को करनाल जिला के गांव बाल पबाना में डिस्पैंसरी देखना चाहते थे। पिछले दिनों जब वह बाल पबाना के लिए आए तो उन्हें पानीपत में ही रोक लिया गया और भाजपा कार्यकर्ताओं ने गांव में जाने वाले सभी रास्तों पर जाम लगा दिया। जिसके चलते केजरीवाल को पानीपत से ही वापस लौटना पड़ा था।

हरियाणा सरकार व भाजपा की इस कार्रवाई से गुस्साए बाल, पबाना, मुनक, बमरेड़ी, खेड़ी मूनक, गगसीना समेत आसपास के गांवों के ग्रामीणों ने आज केजरीवाल से मुलाकात की। मुनक गांव से आए राम कुमार चित्रा ने कहा कि खट्टर ने आपको बाल-पबाना आने से रोककर पूरे हरियाणा वासियों का अपमान किया है। इससे गांव-देहात के लोग काफी आहत हैं। ग्रामीणों ने केजरीवाल को दोबारा आनो का न्यौता देते हुए कहा कि बाल-पबाना व आसपास के गांवों के लोग उस दिन उन्हें मिलकर स्वागत करना चाहते थे,लेकिन खट्टर ने बीच रास्ते में रोककर सबको शर्मिंदा किया।

बाल राजपूताना गांव से आए विशंभर राणा ने बताया कि जिस डिस्पेंसरी को केजरीवाल देखना चाहते थे वहां एक रात पहले सीएमओ साहब आकर वहां कुछ दवाएं रख गये थे। और तो और, डिस्पेंसरी में झाड़ू भी उसी रात रखी गई थी। लेकिन जब खट्टर सरकार को लगा कि अगर केजरीवाल आ गये तो बहुत बेइज्जती हो जाएगी, तो उन्होंने आपको वहां आने से रोक दिया। खट्टर ने खुद की बेइज्जती से बचने के लिए पूरे हरियाणा को बेइज्जत किया।

अरविंद केजरीवाल ने ग्रामीणों का दिल्ली आने पर स्वागत करते हुए कहा कि वह बहुत जल्द गांवों में आने का कार्यक्रम बनाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि मैंने खुद खट्टर साहब को दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक देखने के लिए आमंत्रित किया। खट्टर अगर आते तो वह उनका दिल्ली बार्डर पर स्वागत करते। पहले तो वह तैयार हो गये लेकिन बाद में न जाने किस डर से उन्होंने आने से मना कर दिया। केजरीवाल ने कहा कि अगर खट्टर साहब दिल्ली आकर हमारे मोहल्ला क्लीनिक देखते और उसमें कुछ कमी निकलती तो हम ठीक कर लेते। लेकिन वह आए नहीं और जब मैं डिस्पेंसरी देखने गया तो मुझे रोक दिया।

इसी में बाक्स—–

ग्रामीणों ने टोपी पहनकर ली आम आदमी पार्टी की सदस्यता

असंध विधानसभा से आए ग्रामीणों ने इस मौके पर टोपी पहनकर आम आदमी पार्टी की सदस्यता भी ली। इस मौके पर ग्रामीणों ने ये भी कहा कि पगड़ी-टोपी सम्मान का प्रतीक है। केजरीवाल ने हमें ये सम्मान दिया है। आज से हम लोग आम आदमी पार्टी के परिवार का हिस्सा हैं। हम अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर लोगों को आम आदमी पार्टी की इस क्रांति से जोड़ेंगे।

Follow us on facebook
twitter
youtube
dailymotion
G+

(Visited 16 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!