कांग्रेस की कलह अब गुरूग्राम चुनाव में नही लड़ेंगे सिम्बल पर चुनाव

कांग्रेस की कलह अब गुरूग्राम चुनाव में नही लड़ेंगे सिम्बल पर चुनाव

गुरूग्रमा : अरूण कुमार

अगर कांग्रेस की बात करें तो उसकी कलह थमने का नाम नही ले रही। कभी हड्‌डा बनाम तंवर तो कभी कोई ओर। चूंकी अशोक तंवर प्रदेशाध्यक्ष है इसलिए उनकी कुछ जिम्मेदारियां भी है। इन्हीं जिम्मेदारियों को ध्यान में रखते हुए प्रदेशाध्यक्ष ने गुरूग्राम के निगम चुनावाें में पार्टी के सिम्बल पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया। ऐलान तो कर दिया लेकिन प्रदेश प्रभारी कमलनाथ ने अगले ही दिन इस घोषणा को पलट दिया और घोषणा की है कि पार्टी अपने सिंबल पर नगर निगम चुनाव नही लड़ेगी। दरअसल, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष तंवर ने गुरुवार को गुड़गांव में पत्रकारवार्ता कर घोषणा की थी कि इस बार कांग्रेस अपने सिंबल पर ही नगर निगम चुनाव लड़ेगी। यह फैसले से कांग्रेस के दूसरे पक्ष को नागवार गुजरा। दूसरे पक्ष ने कांग्रेस के पूर्व मंत्री राव धर्मपाल के नेतृत्व में बैठक की और पार्टी सिंबल पर चुनाव लड़ने के तंवर के फैसले को चुनौती देने का फैसला लिया। दिल्ली में कांग्रेस प्रभारी कमलनाथ को ज्ञापन सौंपकर पार्टी सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ने की अपील की। कमलनाथ ने लिखित आदेश जारी किया कि नगर निगम चुनाव की घोषणा हो चुकी है। वर्तमान में गुरूग्राम में ना तो जिला कांग्रेस कमेटी गठित है और ना ही शहर कमेटी गठित की गई है। जैसा कि कांग्रेस की परंपरा है गुरूग्राम नगर निगम चुनाव में कांग्रेस अपने सिंबल पर उम्मीदवार नहीं उतारेगी और ना ही कांग्रेस का चुनाव चिह्न किसी को दिया जाएगा। कमलनाथ ने अपना यह आदेश प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर विधानसभा में पार्टी नेता किरण चौधरी, विधायक भूपेंद्र सिंह हुड्डा, सभी सांसदगण, कांग्रेस अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के कार्यालय को भी पत्र से भेजा है।  सभी ने इस प्रस्ताव को प्रदेश प्रभारी कमलनाथ को सौंपा। कांग्रेस वरिष्ठ नेता धर्मवीर गाबा की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूर्व मंत्री सुखवीर कटारिया, पटौदी से पूर्व विधायक रामवीर सिंह, गुड़गांव शहरी के तत्कालीन जिला अध्यक्ष विपिन खन्ना, तत्कालीन ग्रामीण जिलाध्यक्ष जितेंद्र भारद्वाज, कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय सचिव सुनीता सहरावत, जिला महिला अध्यक्ष अनू चौधरी, युवा जिलाध्यक्ष मनीष खटाना, महिला युवा कांग्रेस अध्यक्ष खुशबू शर्मा मंगला, हरियाणा कांग्रेस के महासचिव खजान सिंह, हरियाणा संगठन मंत्री जितेंद्र राणा, सुशील भारद्वाज, पटौदी से कांग्रेस के उम्मीदवार रहे सुधीर कुमार चौधरी, सोहना विधानसभा से कांग्रेस के उम्मीदवार रहे रोहताश बेदी, इंटक के हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष अमित यादव, बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार रहे बिरेंद्र सिंह, दिनेश शर्मा, नरेश कुमार हेलीमंडी पूर्व ब्लाक प्रधान शामिल हुए। सिम्बल पर चुनाव ना लड़ने के फैंसले पर अन्य राजनैतिक गुटों में यह भी चर्चा है कि कहीं इन चुनावों में उनकी किरकरी हुई तो इससे पार्टी की छवी धुमिल होगी। जिसका असर प्रदेश में होने वाले आगामी चुनावों में पड़ेगा।


(Visited 79 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!