आयुष्मान भारत योजना: आदेश में अब तक हुआ 3585 लोगो का पंजीकरण

Watch Like & Subscribe the k9media Youtube channelआयुष्मान भारत योजना: आदेश में अब तक हुआ 3585 लोगो का पंजीकरण
सरकारी पैसे से चलने वाली इतनी बड़ी योजना दुनिया के किसी भी देश में नहीं: डॉ. गिल
कैशलेस यानी बिना पैसे दिए मिलेंगी दूसरे और तीसरे दर्जे की सवास्थ्य सुविधाऐं

शाहाबाद मारकंडा, 7 मार्च: आदेश मेडिकल कॉलेज और हस्पताल मोहड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार द्वारा लगभग 6 महीने पहले शुरू किये गए आयुष्मान भारत योजना के तहत 3585 लोगो का पंजीकरण हुआ है और इनमे से 765 लोगो को इसका लाभ भी हुआ है। संस्थान के चैयरमेन डॉ. एच. एस गिल ने जानकारी देते हुए बताया की प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के तहत जिन लोगो का पंजीकरण हो चूका है वो हर साल 5 लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा के तौर पर फायदा ले सकते है। जिसमे दूसरे और तीसरे दर्जे की सभी स्वास्थ्य सुविधाएं शामिल हैं। इस स्कीम के तहत बने पैनल में आदेश अस्पताल में लाभार्थी इलाज करा सकते हैं। जो की बिलकुल कैशलेस यानी बिना पैसे दिए मिलेगा। उन्होंने बताया की 1350 मेडिकल पैकेज की इस स्कीम के तहत सर्जरी, मेडिकल, दवाओं के खर्चे, डायग्नोस्टिक जैसी चीजें मुफ्त मिल सकेंगी और अगर बीमारी पुरानी है तो भी इस स्कीम के तहत उसका इलाज कराया जा सकता है। डॉ. गिल ने कहा की सरकारी पैसे से चलने वाली इतनी बड़ी योजना दुनिया के किसी भी देश में नहीं है और लोगो को इसका फायदा अवश्य उठाना चाहिए। संस्थान के महा प्रबंधक हरि ओम गुप्ता ने बताया की आदेश कॉलेज और हस्पताल मोहड़ी में प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकरण बिलकुल फ्री किया जा रहा है। जिन लोगो का अभी तक पंजीकरण नहीं हुआ है वो अपना पंजीकरण यहाँ आ कर करवा सकते है और इस योजना का लाभ ले सकते है।
बॉक्स
अब तक किन किन लोगो को मिला लाभ: आदेश अस्पताल में आईपीडी इंचार्ज डॉ. गायत्री मोर ने जानकारी में बताया की अब तक आदेश अस्पताल में सैंकड़ों की सख्या में लोगो ने इस योजना का लाभ लिया है जिनमे से मुख्या रामदास पुत्र चितरा राम निवासी करनाल जो की शिश्न की बीमारी से जूझ रहा था और जिसके ईलाज में लगभग 1 लाख 25 हजार रूपए का खर्च था और उसको ईलाज के लिए पैसे जुटाना मुश्किल था। तब आदेश अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना, कार्यलय के इंचार्ज संजय आहूजा द्वारा आयुष्मान भारत योजना के बारे में बताया और तब उसका इलाज बिलकुल फ्री हुआ। इसी तरह मलकीत पुत्र करम सिंह निवासी सम्भालखी, जिसकी 3 उंगलियां कट जाने के बाद किसी भी काम को करने में असमर्थ था, का ईलाज भी इस योजना के तहत 3 लाख 50 हजार रूपए के साथ बिलकुल फ्री संभव हुआ। इसी के साथ रामदिया पुत्र सारदा राम निवासी नारायणगढ की दिल की बीमारी के बाद 90 हजार का ईलाज भी संभव हुआ। बता दें की रामदिया का ईलाज अभी चल रहा है और वो अभी आदेश अस्पताल में दाखिल है।
1 आदेश अस्पताल में जे-रे-ईलाज रामदिया और साथ में डॉ. गायत्री और अन्य।
2 आदेश अस्पताल में आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकरण करवाने आए लोग।

2 Attachments

2 Attachments
ttachments area


Follow us on facebook
twitter
youtube

(Visited 6 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!